भारत में क्रिप्टोकरेंसी व्यापार

ब्रोकर टेस्ट

ब्रोकर टेस्ट
हिंदी में सवाल तो आफताब अंग्रेजी में करता है रिप्लाई

Career Scope for Indian Stock Brokers

Prem Prakash Profile: घर में AK-47 रखने वाला PP है झारखंड का सबसे बड़ा पावर ब्रोकर, जानिए पूरी कुंडली

झारखंड की राजधानी रांची में प्रेम प्रकाश नाम के एक शख्स के घर से छापे में दो AK-47 राइफलें मिली हैं. जिसकी चर्चा अब पूरे देश में हो रही है. आखिर कौन है ये प्रेम प्रकाश ?

अवैध खनन और मनरेगा घोटाले (MANREGA SCAM) में मनी लांड्रिंग (Money Laundering) मामले में फंसे झाऱखंड के रसूखदार शख्स प्रेम प्रकाश (Prem Prakash) के घर से बुधवार को ED ने दो AK-47 राइफलें बरामद की. इन राइफलों को देख कर न सिर्फ ED के अधिकारी चौंक गए बल्कि ये खबर पूरे देश में सुर्खियों में आ गई. ऐसे में ये जानना दिलचस्प होगा कि प्रेम प्रकाश कौन है?

दरअसल प्रेम प्रकाश वो शख्स है जिसका सिक्का पूरे झारखंड में चलता है चाहे सरकार किसी की भी हो. रघुवर दास से हेमंत सोरेन (Hemant Soren) सरकार तक में अधिकारियों की ट्रांसफर पोस्टिंग से लेकर काले धन को सफेद धन करने तक का काम कराना प्रेम प्रकाश के बाएं हाथ का खेल है. वो झाऱखंड (Jharkhand) का सबसे पावरफुल ब्रोकर माना जाता है.

जुलाई से पहले ब्रोकर आपको दोबारा सिप रजिस्ट्रेशन के लिए कह सकता है, जानिए क्यों

अगर आपके सिप में आपके इनवेस्टमेंट का पैसा पहले ब्रोकर के बैंक अकाउंट में जाता है तो आपका ब्रोकर आपको फिर से सिप रजिस्ट्रेशन के लिए कह सकता है।

क्या आप स्टॉक ब्रोकर या ऑनलाइन डिस्ट्रिब्यूटर के जरिए म्यूचुअल फंड्स की स्कीम में इनवेस्ट करते हैं। अगर हां तो आपका ब्रोकर या डिस्ट्रिब्यूटर जल्द आपसे संपर्क कर सकते हैं। वे आपको दोबारा रजिस्ट्रेशन के लिए कह सकते हैं। इसकी वजह सेबी का एक रूल है। सेबी ने अक्टूबर 2021 में अपने एक नियम में बदलाव किया था।

सेबी का मानना है कि कोई म्यूचुअल फंड डिस्ट्रिब्यूटर, ऑनलाइन प्लेटफॉर्म, स्टॉक ब्रोकर या इनवेस्टमेंट एडवाइजर्स इनवेस्टर्स का पैसा फंड हाउस को ट्रांसफर करने से पहले अपने बैंक अकाउंट में नहीं रख सकता। इसका मकसद पैसे के दुरुपयोग की संभावना खत्म करना है। सेबी ने म्यूचुअल फंड कंपनियों को पहले 1 अप्रैल, 2022 से इस नियम का पालन करने को कहा था। अब यह डेडलाइन बढ़ाकर 1 जुलाई कर दी गई है।

संबंधित खबरें

Trade setup for today: बाजार खुलने के पहले इन आंकड़ों पर डालें एक नजर, मुनाफे वाले सौदे पकड़ने में होगी आसानी

LIC के शेयरों से मिलेगा 47% का रिटर्न, ICICI सिक्येरिटीज ने इन वजहों से दी स्टॉक BUY करने की सलाह

Stock Market Today: 24 Nov 2022 को कैसा रहेगा मार्केट का हाल

सेबी के इस नियम के पालन के लिए म्यूचुअल फंडों को अपने कामकाज में थोड़ा बदलाव करना होगा। इस नियम की डेडलाइन से पहले इनवेस्टर्स सहित सभी पक्षों को थोड़ी दिक्कत हो सकती है। दरअसल, अधिकांश सिप निवेशकों को वन-टाइम मैनडेट पर हस्ताक्षर करने होते हैं। हालांकि, मौजूदा कई मैनडेट डिस्ट्रिब्यूटर्स के नाम में है, लेकिन फंड हाउसेज ने पेमेंट एग्रीगेटर्स से एक समझौता किया है। इसके तहत फंड हाउसेज पेमेंट एग्रीगेटर्स और डिस्ट्रिब्यूटर्स को यह कहते हैं कि इनवेस्टर्स से लिया गया पैसा सीधे फंड हाउस के बैंक अकाउंट में क्रेडिट किया जाए।

टॉप इंडियन एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस से करें स्टॉक ब्रोकिंग के प्रमुख कोर्सेज

  1. इंस्टीट्यूट ऑफ़ कंपनी सेक्रेटरीज़ ऑफ़ इंडिया, नई दिल्ली
  2. इंस्टीट्यूट ऑफ़ कैपिटल मार्केट डेवलपमेंट, नई दिल्ली
  3. दी ओरियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ कैपिटल मार्केट, नई दिल्ली
  4. मुंबई स्टॉक एक्सचेंज ब्रोकर टेस्ट ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट, मुंबई
  5. इंस्टीट्यूट ऑफ़ फाइनेंशियल एंड इन्वेस्टमेंट प्लानिंग, मुंबई
  6. दी यूटीआई इंस्टीट्यूट ऑफ़ कैपिटल मार्केट, मुंबई
  7. इंस्टीट्यूट ऑफ़ चार्टर्ड फाइनेंशियल एनालिस्ट्स ऑफ़ इंडिया, हैदराबाद
  8. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, अहमदाबाद/ कलकत्ता, बैंगलोर/ लखनऊ
  1. इन्वेस्टमेंट बैंक्स
  2. पेंशन फंड्स
  3. ब्रोकिंग फर्म्स
  4. म्यूच्यूअल फंड्स
  5. रिसर्च कंपनीज़/ सेंटर्स
  6. फाइनेंसियल/ इन्वेस्टमेंट कंसल्टेंसीज़
  7. न्यूज़पेपर्स ब्रोकर टेस्ट एंड मैगजीन्स/ टीवी चैनल्स
  8. इंश्योरेंस कंपनीज़
  9. मर्चेंट बैंक्स/ बैंक्स जो स्टॉक ब्रोकिंग का काम करते हैं
  10. बड़े बिजनेस ग्रुप्स/ हाउसेस और कंपनियां

इंडियन स्टॉक ब्रोकर्स के लिए प्रमुख करियर ऑप्शन्स

हमारे देश में प्रोफेशनल्स स्टॉक मार्केट्स में उपलब्ध निम्नलिखित करियर ऑप्शन्स में से अपने लिए कोई सूटेबल करियर और जॉब प्रोफाइल चुन सकते हैं:

  • बैंक ब्रोकरकिसी बैंक ब्रोकर का काम अन्य स्टॉक ब्रोकर्स के समान ही होता है. दरअसल, ये पेशेवर संबंधित बैंक के विभिन्न क्लाइंट्स के लिए शेयर्स को खरीदते और बेचते हैं लेकिन बैंक ब्रोकर्स को संबंधित बैंक्स ही क्लाइंट बेस उपलब्ध करवाते हैं इसलिए, क्लाइंट्स खुद बैंक ब्रोकर्स से कांटेक्ट करते हैं.
  • इंडिपेंडेंट ब्रोकरये सर्टिफाइड पेशेवर एक इंडिपेंडेंट या स्वतंत्र एजेंट के तौर पर काम करते हैं. इन पेशेवरों को अपने क्लाइंट्स की तलाश खुद करनी होती है इसलिए इनका कम्युनिकेशन स्ट्रोंग होने के साथ ही सोशल-नेटवर्किंग भी मजबूत होनी चाहिए. स्टॉक मार्केट की अच्छी जानकारी और समझ भी इन पेशेवरों को सफलता दिलवाने में प्रमुख भूमिका निभाती है. ये पेशेवर अपना कमीशन या लाभांश खुद ही निर्धारित करते हैं जिस वजह से अपने फायदे या नुकसान के लिए काफी हद तक ये पेशेवर ही जिम्मेदार होते हैं.
  • इक्विटी एनालिस्टये पेशेवर संबंधित संगठन या कंपनी के स्टॉक्स और अन्य फाइनेंशियल प्रोडक्ट्स के लाभ और जोखिम के बारे में पता लगाने के लिए उन कंपनियों या संगठन के परिवेश और मौजूदा फाइनेंशियल कंडीशन्स की स्टडी करता है. ये पेशेवर बड़ी स्टॉक ब्रोकिंग फर्म या बिजनेस संगठन में जॉब करते हैं या फिर एक इंडिपेंडेंट एजेंट के तौर पर भी अपना काम कर सकते हैं.
  • स्टॉक ब्रोकिंग फर्म/ कंपनीऐसी कंपनी अपने क्लाइंट्स बनाकर स्टॉक मार्केट प्रोडक्ट्स में उनका धन इन्वेस्ट करती है. ऐसी किसी कंपनी में काम करने वाले पेशेवर ज्यादा सुरक्षित होते हैं.
  • इन्वेस्टमेंट बैंकरइस पेशे में आपको बहुत अच्छी कमाई करने का अवसर मिलता है क्योंकि ये पेशेवर काफी बड़े लेवल पर कैपिटल और धन का लेन-देन करते हैं. कई कंपनियों के मर्जर्स और एक्वीजीशन्स की डीलिंग भी ये पेशेवर ही करते हैं. ये पेशेवर प्राइवेट कंपनियों के साथ गवर्नमेंट एजेंसियों के लिए भी काम करते हैं.

इंडियन स्टॉक ब्रोकर्स के लिए उपलब्ध हैं कुछ अन्य खास करियर ऑप्शन्स

  1. पर्सनल फाइनेंशियल एडवाइजर/ फाइनेंशियल एडवाइजर
  2. फाइनेंशियल एनालिस्ट/ रिसर्च एनालिस्ट
  3. पोर्टफोलियो मैनेजर
  4. इन्वेस्टमेंट एडवाइजर
  5. कैपिटल मार्केट स्पेशलिस्ट
  6. एकाउंटेंट्स
  7. सिक्यूरिटीज़ एनालिस्ट
  8. फाइनेंशियल मैनेजर
  9. सिक्यूरिटी ट्रेडर्स
  10. सिक्यूरिटी सेल्स रिप्रेजेंटेटिव

हरेक अन्य पेशे की तरह ही हमारे देश में इन पेशेवरों को उनकी एजुकेशनल क्वालिफिकेशन, परफॉरमेंस और वर्क एक्सपीरियंस के मुताबिक ही सैलरी पैकेज मिलता है. शुरू में ये पेशेवर एवरेज 2 -3 लाख रुपये सालाना कमा लेते हैं लेकिन कुछ वर्षों के अनुभव के बाद ये पेशेवर एवरेज 5 -7 लाख रुपये सालाना तक कमा लेते हैं. इन पेशेवरों को अपनी परफॉरमेंस के मुताबिक अक्सर इंसेंटिव भी मिलता है. किसी इन्वेस्टमेंट बैंकर के तौर पर ये पेशेवर शुरू में एवरेज 12 लाख रुपये सालाना कमाते हैं और ब्रोकर टेस्ट कुछ वर्षों के अनुभव के बाद ये इन्वेस्टमेंट बैंकर्स एवरेज 30 लाख रुपये सालाना भी कमा सकते हैं. इस फील्ड में इंडिपेंडेंट ब्रोकर्स अपने टैलेंट के आधार पर करोड़ों रुपये सालाना भी कमा लेते हैं.

श्रद्धा की मई में हत्या, जून में त्रिलोकपुरी में मिला कटा सिर और हाथ; ब्रोकर टेस्ट जल्द आने वाली है टेस्ट रिपोर्ट

श्रद्धा की मई में हत्या, जून में त्रिलोकपुरी में मिला कटा सिर और हाथ; जल्द आने वाली है टेस्ट रिपोर्ट

दिल्ली के महरौली स्थित घने जंगल में श्रद्धा मर्डर केस से जुड़े सबूतों की तलाश जारी है। आफताब आरीफ पूनावाला ने इन्ही जंगलों में श्रद्धा के शरीर के टुकड़ों को फेंकने की बात कही है और पुलिस को उम्मीद है कि इस तलाशी में उसे श्रद्धा के शव के टुकड़े मिल जाएंगे। दिल्ली पुलिस से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, इससे पहले दिल्ली पुलिस ने मानव शरीर के 12 टुकड़े ढूंढे हैं और इन्हें जांच के लिए भेजा गया है। पुलिस इनका डीएनए एनालिसिस भी करवा सकती है। सूत्रों के मुताबिक, ईस्ट दिल्ली पुलिस ने इसी साल जून के महीने में पांडव नगर के त्रिलोकपुरी इलाके में कटी हुई सिर और हाथ बरामद किये थे। यानी श्रद्धा की हत्या के करीब एक महीने बाद यह कटी हुई सिर और हाथ मिले थे। हालांकि, इस केस में पुलिस यह पता नहीं लगा पाई थी कि यह सिर और हाथ किसका है, इसकी वजह यह थी कि दोनों ही अंग बेहद ही खराब हालत में मिले थे। ईस्ट दिल्ली में मिले अंगों को डीएनए टेस्ट के लिए भेजा गया था। जल्द ही फॉरेंसिक रिपोर्ट आने वाली है।

ABOUT STOCK MARKETS.

देश की अर्थव्यवस्था प्राय: हर क्षेत्र में तरक्की की कुलांचे भर रही है। अमेरिका तथा अन्य पश्चिमी देशों की अर्थव्यवस्था जहां मंदी के दौर से गुजर रही है, वहीं इंडियन कॉर्पोरेट कंपनियां न केवल सफलता के नए मानदंड स्थापित कर रही हैं, बल्कि पूरी दुनिया में अपनी पहचान भी बना रही हैं। ऐसे में उनके शेयर बाजार में आते ही कुछ ही घंटों में ओवर-सब्सक्राइब हो जा रहे हैं। दरअसल, अर्थव्यवस्था की मजबूती के साथ शेयर बाजार में भी अब पहले से अधिक रौनक आ गई है। यही कारण है कि अब सिर्फ बडे निवेशक ही नहीं, बल्कि आम आदमी भी पैसा बनाने के लिए इसमें निवेश करने लगा है और बाजार की गतिविधियां बढने से कुशल ब्रोकर, डीलर, सेल्स परसन, कॅप्लायंस ऑफिसर्स, इंफॉर्मेशन सिक्युरिटी ऑडिटर्स आदि की डिमांड में काफी तेजी आई है।

उल्लेखनीय है कि शेयर मार्केट काफी संवेदनशील होने के कारण इसमें सोच-समझकर निवेश करने की जरूरत होती है। चूंकि छोटे निवेशक बाजार के रुख और जिन कारणों से शेयर बाजार प्रभावित होता है, उससे सही तरीके से वाकिफ नहीं होते, इसलिए उन्हें किसी ऐसे जानकार की सेवा लेने की जरूरत महसूस होती ही है, जो उसके पैसे का सुरक्षित निवेश सुनिश्चित कर सके और इसलिए स्टॉक ब्रोकर और इस मार्केट से जुडे अन्य जानकार लोगों की जरूरत होती है। यदि आप भी स्टॉक ब्रोकर बनने में दिलचस्पी रखते हैं, तो सबसे पहले आपको इस मार्केट के बारे में अच्छी तरह से जानना होगा। इसके लिए पहले आप किसी प्रामाणिक संस्थान से इससे संबंधित कोर्स करें। फिर उसके बाद किसी स्थापित ब्रोकर के साथ कुछ समय काम करके प्रैक्टिकल अनुभव भी हासिल कर सकते हैं। वैसे, यदि आप कैपिटल और कॅमोडिटी मार्केट में रेगुलर इनवेस्ट ब्रोकर टेस्ट करने वाले जागरूक निवेशक हैं, तो आप भी स्टॉक मार्केट से संबंधित शॉर्ट-टर्म कोर्स करके अपना ज्ञान बढा सकते हैं। ऐसा करने से आप भी मार्केट की सही एनालिसिस करने में सक्षम हो सकेंगे।

रेटिंग: 4.57
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 360
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *