ऑनलाइन निवेश

बिटकॉइन के बारे में तथ्य

बिटकॉइन के बारे में तथ्य
1- इसकी शुरुआत 3 जनवरी 2009 को हुई थी।

Bitcoin Kya Hai : Bitcoin में निवेश करने से पहले जाने कुछ जरूरी बातें

Bitcoin kya hai जानने के बाद आइए जानते है, आखिर यह काम कैसे है ?

Bitcoin के काम करने का तरीका बहुत आसान है, यह मार्केट के डिमांड-सप्लाइ पर बहुत ज्यादा निर्भर करता है|

जिसका मतलब है,अगर Bitcoin खरीदने वालों की संख्या बेचने वालों से ज्यादा है तो इसकी कीमत में आपको उछाल देखने को मिलेगा|

अगर बेचने वालों की संख्या खरीदने वालों से ज्यादा है तो इसके कीमत में गिरावट देखने को मिलेगा|

बिटकॉइन के जैसे अन्य Cryptocurrency ?

फिलहाल दुनिया में डिजिटल मुद्रा का दौर चल रहा है, तो नीचे दिए गए कुछ नाम है जो बिटकॉइन के सफलता के बाद चर्चा में आए है, जिसको खरीदकर आप पैसा कमा सकते है :-

अगर आप भारत में रहकर बिटकॉइन खरीदना चाहते है तो नीचे दिए गए नाम आपको इसमें मदद करेंगे :-

भारत में बिटकॉइन खरीदने के लिए 7 सर्वश्रेष्ठ ऐप:-

बिटकॉइन उपयोग करने के क्या फायदे-नुकसान हैं?

1. यहां पर Transaction फीस का पेमेंट करना क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड से पेमेंट करने की तुलना में बहुत कम है।

2. आप दुनिया में कहीं भी और कभी भी बिटकॉइन खरीद-बेच सकते हैं।

3. बिटकॉइन का अकाउंट कभी Block नहीं होता है, जैसे:- कभी-कभी किसी कारण से बैंक हमारे क्रेडिट या डेबिट कार्ड को ब्लॉक कर देता है, तो यह समस्या यहां नहीं होती है।

4. अगर आप लंबे वक्त के लिए बिटकॉइन में निवेश करना चाहते हैं, तो आपको इससे बहुत लाभ मिल सकता है|

क्योंकि रिकॉर्ड में यह देखा गया है कि बिटकॉइन की कीमत बढ़ने वाली है, तो बाद में आपको बहुत फायदा मिल सकता है|

5. बिटकॉइन के Transaction प्रोसेस में, कोई सरकार या अथॉरिटी का हस्तछेप नहीं है, जो आप पर नजर रखता है|

कई लोग हैं जो इसका उपयोग गलत काम करने के लिए करते हैं, इसलिए यह उनके लिए फायदेमंद है|

बिटकॉइन और निवेश से जुड़े कुछ रोचक तथ्य, जानिए इसके बारे में

ये डिजिटल मुद्रा इनक्रिप्टेड यानी कोडेड होती हैं.

  • News18Hindi
  • बिटकॉइन के बारे में तथ्य
  • Last Updated : December 29, 2021, 16:47 IST

नई दिल्ली. बिटकॉइन एक विकेन्द्रीकृत डिजिटल मुद्रा है. यह पहली विकेन्द्रीकृत डिजिटल मुद्रा है जिसका अर्थ है की यह किसी केन्द्रीय बैंक द्वारा नहीं संचालित होती है. कम्प्यूटर नेटवर्किंग पर आधारित भुगतान हेतु इसे बिटकॉइन के बारे में तथ्य निर्मित किया गया है. क्रिप्टोकरेंसी एक डिजिटल कैश प्रणाली है, जो कम्प्यूटर एल्गोरिदम पर बनी है यह सिर्फ डिजिट के रूप में ऑनलाइन रहती है. इस पर किसी भी देश या सरकार का कोई नियंत्रण नहीं है. शुरुआत में इसे अवैध करार दिया गया था. लेकिन बाद में बिटकॉइन की बढ़ती लोकप्रियता के चलते इसे कई देशों में लीगल कर दिया गया है. कुछ देश तो अपनी खुद की क्रिप्टोकरेंसी ला रहे हैं. बिटकॉइन दुनिया की सबसे महंगी वर्चुअल करेंसी है.

Bitcoin लेनदेन का पता नहीं कर सकते..

बिटकॉइन लेनदेन करते समय, आपके नाम / पहचान का किसी भी रूप में उपयोग नहीं किया जाता है। केवल आपका सार्वजनिक पता (Bitcoin key address) उपलब्ध होता है।

परंतु…बिटकॉइन ब्लॉकचैन एक स्थायी खाता है जो पारदर्शी है। अगर कोई व्यक्ति आपके विकेटिन के सार्वजनिक पते (Bitcoin public address) को जानता है, तो वे देख सकते हैं कि आपके पास कितने बिटकॉइन हैं और आपने कौन से लेन-देन किए हैं।

आप बिटकॉइन को स्पर्श, महसूस या प्रिंट नहीं कर सकते. वर्तमान में, बिटकॉइन के नेटवर्क की खनन(mining) शक्ति दुनिया के शीर्ष 5 सुपर कंप्यूटरों की तुलना में 300 गुना अधिक शक्तिशाली है।

21 मिलियन से अधिक bitcoin बाजार में नही आयेंगे।

Bitcoin का कुल Amount पहले से ही तय किया गया है। 21 मिलियन से अधिक bitcoin बाजार में नही आयेंगे अभी तक लगभग 13 मिलियन bitcoin बाजार में आ चुके हैं।

Bitcoin पर किसी भी देश के सरकार या बैंक का अधिकार नही है। Bitcoin का मालिक कोई नही है। इस कारण बिटकॉइन(Bitcoin) पर प्रतिबंध लगाया नहीं जा सकता। फिर भी,

कई देशों ने इसे प्रतिबंधित करने की कोशिश की है, जैसे बांग्लादेश, बोलीविया, थाईलैंड, और वियतनाम। लेकिन ऑस्ट्रेलिया, रूस, जापान और वेनेजुएला जैसे कुछ देश हैं, जिन्होंने बीटकोइन को एक आधिकारिक कानूनी निविदा दी है और इसे विनियमित कर रहे हैं।

हालांकि, भारत और यहां तक कि अमेरिका जैसे कुछ देशों में क्रिप्टोक्यूरैंसी के बारे में उनकी आधिकारिक नीति के बारे में स्पष्ट नहीं किया हैं।

बिटकॉइन (Bitcoin) मुद्रा क्या है और कैसे काम करती है?

वर्तमान समय में सबसे ज्यादा चर्चा में रहने वाली बिटकॉइन के बारे में तथ्य मुद्रा बिट कॉइन (Bitcoin) है. बिटकॉइन डिजिटल मुद्रा का एक रूप है सरल शब्दों में, यह एक गणितीय संरचना है जो एल्गोरिदम पर चलता है. इसे किसने विकसित किया था इसके बारे में कोई भी ठोस सबूत नही है लेकिन छदम रूप से इसके संस्थापक का नाम ‘सोतशी नाकामोतो’ माना जाता हैl जिस तरह रुपए, डॉलर और यूरो खरीदे जाते हैं, उसी तरह बिटकॉइन की भी खरीद होती है। ऑनलाइन भुगतान के अलावा इसको बिटकॉइन के बारे में तथ्य पारम्परिक मुद्राओं में भी बदला जाता है.

Bitcoin currency

बिटकॉइन एक तरह की एक डिजिटल मुद्रा (digital currency) और स्वतन्त्र मुद्रा है | इस पर किसी भी संस्था या देश का अधिकार नहीं है| इसका मालिक, भौतिक (physical) रूप से चीजों की खरीदारी नहीं कर सकता बल्कि बिटकॉइन का उपयोग ऑनलाइन ही क्या जा सकता है.

रोजाना का कारोबार

भारत में इस समय क्रिप्टोकरंसी की कुल ट्रेडिंग के रोजाना के आंकड़े करीब 1500 करोड़ रुपये के हैं। भारत में शेयर बाजार में रोजाना ₹2,00,000 की ट्रेडिंग होती है। इस हिसाब से क्रिप्टो करेंसी में इस समय शेयर बाजार की तुलना में 1 फ़ीसदी से भी कम रकम की ट्रेडिंग हो रही है।

बढ़ रही है निवेशक की संख्या

भारत में इस समय करीब एक करोड़ एक्टिव इन्वेस्टर हैं जो क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग करते हैं। शेयर बाजार में निवेश करने वाले और ट्रेडर की संख्या करीब 6 करोड़ है। शेयर बाजार की तुलना में करीब 20 फ़ीसदी लोग क्रिप्टो करेंसी में निवेश और ट्रेडिंग कर रहे हैं। एक रिपोर्ट के मुताबिक डिजिटल बिटकॉइन के बारे में तथ्य कॉइन खरीदने कारोबार में 1.5 करोड़ से अधिक भारतीय बिटकॉइन के बारे में तथ्य शामिल हैं।

क्रिप्टो में हर वक्त निवेश

शेयर बाजार में ट्रेडिंग करने का एक समय निर्धारित है। आप सुबह 9:00 बजे से शाम 3:30 बजे तक ही ट्रेड कर सकते हैं। क्रिप्टो मार्केट में ट्रेडिंग का कोई फिक्स समय नहीं है। क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंज 24 घंटे खुले रहते हैं। इनमें कोई छुट्टी, शनिवार रविवार या वीकेंड नहीं होता। आप सिर्फ दिन में ही नहीं रात में भी क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग कर सकते हैं। शेयर और बॉन्ड मार्केट के कामकाज करने का निर्धारित समय है जबकि वीकेंड और छुट्टियों वाले दिन इन एक्सचेंज में कारोबार नहीं होता।

रेटिंग: 4.67
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 801
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *