वीडियो समीक्षा

एक दलाल का वेतन क्या है?

एक दलाल का वेतन क्या है?
वाराणसी ब्यूरो
Updated Sat, 21 Nov 2020 11:35 PM IST

एक दलाल का वेतन क्या है?

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और एक दलाल का वेतन क्या है? सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

एक दलाल का वेतन क्या है?

जगदलपुर : कर्मचारी फेडरेशन ने दीपावली के पहले वेतन भुगतान की मांग

जगदलपुर : कर्मचारी फेडरेशन ने दीपावली के पहले वेतन भुगतान की मांग

जगदलपुर, 12 अक्टूबर (हि.स.)। छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन ने कलेक्टर से मांग की है कि जिले के समस्त शासकीय अर्ध शासकीय कर्मचारी अधिकारियों को अक्टूबर माह का वेतन दीपावली के पूर्व किया जाए। छत्तीसगढ़ कर्मचारी अधिकारी फेडरेशन के संभाग प्रभारी कैलाश चौहान संभागीय संयोजक गजेंद्र श्रीवास्तव तथा जिला संयोजक आरडी तिवारी एक दलाल का वेतन क्या है? ने कहा कि हिंदुओं का प्रमुख त्योहार दीपावली 24 अक्टूबर सोमवार को है तथा इसके पूर्व दो दिन का अवकाश है। अत: दीपावली महापर्व के पूर्व समस्त शासकीय अर्ध शासकीय कर्मचारी अधिकारी का वेतन भुगतान किया जाए जिससे कर्मचारी दिवाली मना सकें।

आरपीएफ ने टिकट दलाल को पकड़ा

आरपीएफ ने टिकट दलाल को पकड़ा

आरपीएफ पटना द्वारा अवैध रूप से टिकटों की खरीद बिक्री करने वाले रेलवे टिकट दलालों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत एक टिकट दलाल को पकड़ा गया है। जंक्शन के निरीक्षक प्रभारी पटना विनोद कुमार सिंह के निर्देश पर कुंदन कुमार व पूजा रानी कैथवास के संग आरक्षी विपिन कुमार चतुर्वेदी व आरक्षी चिंताहरण पाण्डेय ने राजेंद्र नगर में छापेमारी की। राजेंद्र नगर के गली नंबर 15 स्थित रैपिड डाटा सॉल्यूशन में छापेमारी के दौरान दुकान के संचालक को कुल 59 टिकटों के साथ पकड़ा गया। इसमें से 58 टिकट पहले के हैं जिसपर सफर हो चुका है। जबकि एक टिकट अभी भविष्य का है। पकड़ा गया टिकट दलाल राजीव रंजन, उम्र 29 वर्ष, पिता शिव कुमार साव राजेंद्रनगर का रहने वाला है। छापेमारी में उसके दुकान से आरपीएफ ने एक भविष्य के टिकट, 58 पहले के इस्तेमाल हो चुके ई टिकट, एक मोबाइल फोन, एक मॉनिटर, एक सीपीयू, एक प्रिंटर, एक माउस व 14 एक दलाल का वेतन क्या है? सौ रुपए नकद बरामद किए हैं।

8th Pay Commission: केंद्रीय कर्मचारियों की फिर बढ़ेगी सैलरी, 8वें वेतन आयोग पर आया यह बड़ा अपडेट

8th Pay Commission

8th Pay Commission: सरकारी केंद्रीय कर्मचारियों की एकबार फिर लॉटरी लगने वाली है। केंद्र एक दलाल का वेतन क्या है? जल्द ही केंद्रीय कर्मचारियों को पेंशनर्स का बड़ा तोहफा दे सकती है। एक दलाल का वेतन क्या है? खबरों के मुताबक केंद्र सरकार जल्द ही 8वें वेतन आयोग को लेकर कोई बड़ा फैसला ले सकती है। अगर सरकार केंद्रीय क्रमचारियों के 8वें वेतन आयोग देने की मांग को स्वीकार कर लेती है तो उनकी न्यूनतम बैसिक सैलरी 18000 से बढ़कर सीधे 26000 हो जाएगी।

अभी पढ़ें – PM Kisan Yojna: देश के 10 करोड़ से ज्यादा किसानों के लिए खुशखबरी, 13वीं किस्त का डेट आया सामने

न्यूनतम सैलरी 26,000 रुपये

खबरों के मुताबिक 8वें वेतन आयोग के तहत कर्मचारी संघ का प्रस्ताव मंजूर होने पर सरकारी कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन 18,000 रुपये से बढ़कर 26,000 रुपये हो जाएगा। वहीं फिटमेंट फैक्टर 3.68 गुना तक बढ़ जाएगी।

आपको बता दें कि कर्मचारियों के लिए वेतन आयोग हर दस साल में केवल एक बार लागू किया जाता है। 5वें, 6वें और 7वें वेतन आयोग के लागू किये जाने में यही पैटर्न नजर आया है। एक अनुमान के मुताबिक साल 2024 में 8वें वेतन आयोग की स्थापना की जाएगी और जिसकी सिफारिशों को 2026 में लागू हो सकती है।

क्या सरकार खत्म हो करेगा वेतन आयोग?

इसके साथ ही यह भी खबरें आ रही है कि 7वें वेतन आयोग के बाद इसकी परंपरा खत्म हो जाएगी। यानी 7वें वेतन आयोग के बाद अब अगला कोई नया वेतन आयोग नहीं आएगा। इसकी बजाए सरकार ऑटोमैटिक इंक्रीमेंट सिस्टम लागू कर सकती है। इसमें सरकारी कर्मचारियों की वेतन वृद्धि अपने आप हो जाया करेगी। यह प्राइवेट नौकरियों में इंक्रीमेंट जैसा हो सकता है। इसमें 50 फीसदी से ज्यादा डीए होने पर सैलरी में ऑटोमैटिक रिविजन हो जाएगी।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

अनुपस्थित चार नोडल अधिकारियों का एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश

Varanasi Bureau

वाराणसी ब्यूरो
Updated Sat, 21 Nov 2020 11:35 PM IST

Instructions to stop one day's salary of absent four nodal officers

गाजीपुर। राइफल क्लब सभागार में शनिवार को धान खरीद की समीक्षा बैठक हुई। इसमें जिलाधिकारी ने अनुपस्थित चार नोडल अधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह ने केंद्रों पर खरीद कम होने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि सभी क्रय केंद्र समय से खुलें तथा शाम पांच बजे तक केंद्र प्रभारी मौजूद रहें।
किसी भी केंद्र पर बिचौलिए-दलाल सक्रिय न होने पाएं अन्यथा की स्थिति में केंद्र प्रभारी के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। कहा कि अगर महिला के नाम पर पंजीकरण है तथा महिला स्वयं धान बेचने केंद्र पर आती है तो बिना नंबर के ही उसको वरीयता के आधार पर उनका धान क्रय किया जाए। प्रत्येक मंगलवार एवं शुक्रवार को लघु एवं सीमांत कृषकों की खरीद के लिए दिन आरक्षित है। मूल्य समर्थन योजना का लाभ अधिक से अधिक किसानों तक पहुंचाने के लिए छोटे किसानों से खरीद वरीयता के आधार पर किया जाए। 100 क्विंटल से अधिक धान विक्रय करने वाले किसानों का सत्यापन उप जिलाधिकारी द्वारा अवश्य किया जाए। कहा कि केंद्रों पर बड़े काश्तकार के धान की खरीद इस प्रकार किया जाए कि छोटे किसानों का हित प्रभावित न हो। उन्होंने निर्देश दिया कि किसानों के साथ संवेदनशीलता पूर्वक व्यवहार करें तथा उनकी समस्याओं को दूर करते हुए उनके धान की खरीद करें। धान क्रय प्रगति के नियमित अनुसरण एवं प्राप्त शिकायतों के अनुरक्षण के लिए जिलाधिकारी ने चंद्रभान पांडेय क्षेत्रीय विपणन अधिकारी तहसील कासिमाबाद को
धान खरीद कंट्रोल रूम
आपदा नियंत्रण कक्ष में धान खरीद कंट्रोल रूम नंबर 0548-2226005 स्थापित किया गया है। रविवार एवं राजपत्रित अवकाश के दिनों को छोड़कर कंट्रोल रूम प्रतिदिन पूर्वाह्न आठ बजे से शाम छह बजे तक क्रियाशील रहेगा। कहा कि साथ ही जिला खरीद अधिकारी गाजीपुर के मोबाइल नंबर 9454417648 एक दलाल का वेतन क्या है? एवं जिला खाद्य विपणन अधिकारी के मोबाइल नंबर 8004862429 पर संपर्क स्थापित कर अपनी समस्या से अवगत करा सकते हैं। बैठक में अपर जिलाधिकारी राजेश कुमार सिंह, जिला खाद्य विपणन अधिकारी रतन कुमार शुक्ला आदि उपस्थित थे।

रेटिंग: 4.18
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 110
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *