ब्रोकर ट्रेडिंग इंस्ट्रूमेंट्स

क्या है बिटकॉइन सिटी

क्या है बिटकॉइन सिटी

जमशेदपुर : मानगो में दीवार टेढ़ी होने के बाद होटल सिटी इन की एक बिल्डिंग सील

एसडीओ ने अपनी देखरेख में पूरी कराई सीलिंग की कार्रवाई, पुलिस तैनात.

मानगो के पारडीह में होटल सिटी इन की एक बिल्डिंग सील करते कर्मचारी.

मानगो के पारडीह में होटल सिटी इन की एक बिल्डिंग सील करते कर्मचारी.

Jamshedpur (Mujtaba Haider Rizvi) : मानगो के पारडीह में एक बिल्डिंग की दीवार टेढ़ी होने के बाद होटल सिटी इन की इस बिल्डिंग को सील कर दिया गया है. होटल सिटी इन को खाली करा लिया गया है. इस बिल्डिंग की सीलिंग की कार्रवाई क्या है बिटकॉइन सिटी बुधवार को एसडीओ पीयूष सिन्हा ने अपनी देखरेख में पूरी कराई. होटल की तरफ कोई ना जाए इसके लिए फोर्स तैनात की गई है. आजाद नगर थाना पुलिस को भी अलर्ट कर दिया गया है. होटल सिटी इन एनएच 33 के किनारे स्थित है इसलिए एसडीओ क्या है बिटकॉइन सिटी ने पुलिसकर्मियों को निर्देश दिया है कि वह इस बात का भी ध्यान रखें की कोई वाहन आसपास खड़ा ना होने पाए. एसडीओ ने सुबह भी हालात का जायजा लिया.

बिल्डिंग में चलता क्या है बिटकॉइन सिटी है कौशल विकास केंद्र

होटल सिटी इन की इस बिल्डिंग में पंडित दीनदयाल उपाध्याय कौशल विकास केंद्र खुला हुआ है. यह चार मंजिला बिल्डिंग है. मंगलवार की रात में इसमें दरार देखी गई. दीवार क्रेक होने के बाद बिल्डिंग एक तरफ झुक गई है. बिल्डिंग के झुकते ही अफरा-तफरी मच गई. यहां 150 छात्र ट्रेनिंग ले रहे हैं. इन सभी क्या है बिटकॉइन सिटी छात्रों ने फौरन बिल्डिंग को खाली कर दिया. इसके अलावा बगल वाली बिल्डिंग को भी खाली करा लिया गया. होटल सिटी क्या है बिटकॉइन सिटी इन के मालिक विनोद सिंह का कहना है वह 48 घंटे देखेंगे और क्या है बिटकॉइन सिटी उसके बाद बिल्डिंग के क्या है बिटकॉइन सिटी क्या है बिटकॉइन सिटी अंदर मौजूद सामान को धीरे-धीरे निकालना शुरू करेंगे. साथ ही इंजीनियर बुलाकर यह दिखाया जाएगा कि बिल्डिंग को कैसे ठीक किया जा सकता है और किस वजह से बिल्डिंग टेढी हुई है.

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

दीवार टेढ़ी होने की होगी जांच

एसडीओ ने बताया कि पूरे प्रकरण की जांच होगी. बिल्डिंग की दीवार कैसे टेढ़ी हुई इसकी जांच कराई जाएगी. जल्दी ही इसके लिए जांच टीम गठित की जाएगी और रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की प्रक्रिया भी शुरू होगी.

2004 में एक करोड़ की लागत से बनी थी बिल्डिंग

होटल सिटी इन के मालिक विनोद सिंह ने बताया कि यह बिल्डिंग साल 2004 में एक करोड़ रुपए की लागत से बनाई गई थी. एसडीओ का कहना है कि इस बात की जांच होगी कि आखिर बिल्डिंग क्यों टेड़ी हुई है और कहां क्या क्या है बिटकॉइन सिटी दिक्कत है. इसके निर्माण में कोताही बरती गई या कुछ और हुआ है.

रेटिंग: 4.39
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 622
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *