ट्रेडिंग फॉरेक्स के लाभ

वित्तीय बाजार के प्रकार

वित्तीय बाजार के प्रकार
निजी क्रिप्टोकरेंसी के बढ़ते प्रचलन के बीच दुनिया में कई देश अपनी डिजिटल मुद्राएं लॉन्च करने पर विचार कर रहे हैं. यह उसी ब्लॉकचेन तकनीक पर आधारित होगा, जिस पर क्रिप्टोकरेंसी होती है. CBDC का उद्देश्य नकदी पर निर्भरता को कम करना है.

पीएम किसान योजना : 13वीं किस्त से पहले किसानों को 15 लाख रुपए का तोहफा

तकनीकी क्रांति से आतंकवाद के रूप और प्रकार बदल रहे, ये बड़ी चुनौती : अमित शाह

अमित शाह ने कहा कि कुछ देश आतंकवादियों का बचाव करते हैं और उन्हें पनाह भी देते हैं। आतंकवादी को संरक्षण देना, आतंकवाद को बढ़ावा देने के बराबर है। ये हमारी सामूहिक जिम्मेदारी है कि ऐसे तत्व और ऐसे देश अपने इरादों में कभी सफल न हो सकें।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को काउंटर-टेररिज्म फाइनेंसिंग पर तीसरे 'नो मनी फॉर टेरर' (NMFT) मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में हिस्सा लिया। इस मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे। अमित शाह ने कहा कि आतंकवाद नि:संदेह वैश्विक शांति और सुरक्षा के लिए सबसे गंभीर खतरा है। लेकिन आतंकवाद का वित्त पोषण, आतंकवाद से कहीं ज्यादा खतरनाक है। क्योंकि आतंकवाद के Method को इसी फंड से पोषित किया जाता है। भारत, आतंकवाद के सभी रूपों और प्रकारों की घोर निंदा करता है।

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर बुरी खबर, मूडीज ने भारत का क्रेडिट आउटलुक किया ‘स्टेबल’ से ‘नेगेटिव’

Sachin Chaturvedi

Edited By: Sachin Chaturvedi @sachinbakul
Published on: November 15, 2022 19:05 IST

Moody's- India TV Hindi News

Photo:PTI Moody's

कोरोना की रिकवरी के बीच युद्ध, महंगाई और मंदी से दुनिया भर की अर्थव्यवस्थाएं प्रभावित हैं। इस बीच भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए आज एक परेशानी वाली खबर आई है। दुनिया की प्रमुख क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने मंगलवार को 2023 के लिये वैश्विक स्तर पर देशों को साख को लेकर ‘नकारात्मक परिदृश्य’ दिया। इससे पहले मू​डीज ने भारत को स्टेबल श्रेणी में रखा था। भारत सहित दुनिया की 13 अन्य अर्थव्यवस्थाओं को भारत की तरह ही ​नेगेटिव श्रेणी में रखा गया है।

कमाई का 20 प्रतिशत कर्ज अदायगी में होगा खर्च

मूडीज के अनुसार, भारत समेत 13 देशों को अगले साल अपने सरकारी राजस्व का 20 प्रतिशत से अधिक कर्ज की अदायगी के लिये खर्च करना होगा। उसने कहा कि एक तरफ कर्जदाताओं को ऋण अदायगी और दूसरी तरफ सामाजिक तथा आर्थिक विकास को लेकर आबादी की आकांक्षाओं को पूरा करने के बीच भ्रम की स्थिति बढ़ेगी। इसका कारण सरकार को ब्याज भुगतान के लिये अपने बढ़ते राजस्व का हिस्से का उपयोग करना होगा।

मूडीज ने कहा, ‘‘वर्ष 2023 के लिये सरकारी साख को लेकर हमारा परिदृश्य नकारात्मक है। हालांकि, मुद्रास्फीति में गिरावट आनी शुरू होगी, पर खाने के सामान और ऊर्जा के दाम ऊंचे होंगे। इससे आर्थिक वृद्धि प्रभावित होगी और सामाजिक तनाव बढ़ेगा।’’ वैश्विक जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) वृद्धि 2023 में धीमी वित्तीय बाजार के प्रकार पड़कर 1.7 प्रतिशत होने का अनुमान है जो 2022 में तीन प्रतिशत रहेगी। उच्च कीमत और तंग मौद्रिक नीति से ग्राहकों के खर्च, निवेश और आर्थिक धारणा प्रभावित होती है।

प्रधानमंत्री किसान एफपीओ योजना के लिए योग्यता और शर्तें

प्रधानमंत्री किसान एफपीओ योजना में आवेदन के लिए आवेदक को सरकार द्वारा तय की गई योग्यता एवं शर्तों को पूरा करना आवश्यक है, जो इस प्रकार हैं

  • आवेदक किसान भारत का निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक किसान के पास खुद की कृषि योग्य भूमि होनी आवश्यक है।
  • आवेदन करने वाले किसान का मैदानी क्षेत्र में एक एफपीओ में कम से कम 300 और पहाड़ी क्षेत्रों में 100 सदस्य होने चाहिए।
  • योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक के पास सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेज होने चाहिए।

प्रधानमंत्री किसान एफपीओ योजना (PM Kisan FPO Yojana) में आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

प्रधानमंत्री किसान एफपीओ योजना में आवेदन करने के लिए आवेदक के पास सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेज होने आवश्यक है। वो इस प्रकार से हैं

  • आवेदन करने वाले किसान का आधारकार्ड
  • आवेदक का राशन कार्ड
  • आवेदक का निवास प्रमाण-पत्र
  • आवेदक का आय प्रमाण-पत्र
  • आवेदक की जमीन के दस्तावेज
  • आवेदक का मोबाइल नंबर
  • आवेदक के बैंक की पासबुक की कॉपी
  • आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटो

योजना का लाभ पाने के लिए ऐसे करें आवेदन

केंद्र सरकार की इस वित्तीय बाजार के प्रकार योजना का लाभ लेने के लिए आपको निम्नलिखित तरीके से आवेदन करना होगा

  • राष्ट्रीय कृषि बाजार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज खुलने पर एफपीओ के विकल्प पर क्लिक करें।
  • एफपीओ के विकल्प पर क्लिक करने के बाद 'रजिस्ट्रेशन' के विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने योजना का रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।
  • अब आप फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारियों को दर्ज करें।
  • फॉर्म में सभी जानकारी दर्ज करने के बाद अपनी बैंक पासबुक या फिर कैंसिल चेक एवं पहचान प्रमाण पत्र को स्कैन करके अपलोड कर दें।
  • दस्तावेज अपलोड करने के बाद सबमिट के विकल्प पर क्लिक करें।
  • फॉर्म को सबमिट करने के बाद आपको एसएमएस के माध्यम से यूजर आईडी और पासवर्ड प्राप्त हो जाएगा।

योजना का लाभ पाने के लिए ऐसे करें लॉग इन

योजना के लिए रजिस्ट्रेशन करने के बाद आपका आवेदन पूर्ण हो जाएगा। योजना में आवेदन करने बाद अपना आवेदन स्टे्टस चेक करने के लिए आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना पड़ेगा

  • लॉगिन करने के लिए सबसे पहले राष्ट्रीय कृषि बाजार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  • अब आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुलेगा।
  • होम पेज पर आने के बाद आप एफपीओ के विकल्प पर क्लिक करें।
  • एफपीओ पर क्लिक करने के बाद लॉगिन के विकल्प पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपके सामने लॉग इन का टैब खुलेगा।
  • इस टैब में यूजर नेम, पासवर्ड और कैप्चा कोड दर्ज करें।
  • इसके बाद आपकी लॉगिन प्रक्रिया पूरी हो चुकी है आप अपनी आवेदन की स्थिति की जाँच कर सकते हैं।

ट्रैक्टर जंक्शन हमेशा आपको अपडेट रखता है। इसके लिए ट्रैक्टरों के नये मॉडलों और उनके कृषि उपयोग के बारे में एग्रीकल्चर खबरें प्रकाशित की जाती हैं। प्रमुख ट्रैक्टर कंपनियों सोनालिका ट्रैक्टर , जॉन डियर ट्रैक्टर आदि की मासिक सेल्स रिपोर्ट भी हम प्रकाशित करते हैं जिसमें ट्रैक्टरों की थोक व खुदरा बिक्री की विस्तृत जानकारी दी जाती है। अगर आप मासिक सदस्यता प्राप्त करना चाहते हैं तो हमसे संपर्क करें।

अब ज्यादा दूर नहीं डिजिटल रुपया! पायलट प्रोजेक्ट में SBI, HDFC, ICICI समेत 5 बैंक शामिल

खुदरा सीबीडीसी का उपयोग सभी लोग कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated : November 15, 2022, 15:06 IST

हाइलाइट्स

SBI, ICICI बैंक, IDFC फर्स्ट बैंक और एचडीएफसी बैंकों का नाम शामिल.
पायलट प्रोजेक्ट के लिए कुछ और बैंकों को जोड़ा जा सकता वित्तीय बाजार के प्रकार है.
अभी कई चीजों को फाइनल करने के लिए विचार भी चल रहा है.

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने खुदरा बाजार के लिए अपनी डिजिटल मुद्रा (डिजिटल रुपया) लाने के लिए एक पायलट प्रोजेक्ट पर 5 बैंकों को शामिल किया है. द इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ये बैंक हैं – स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, आईडीएफसी फर्स्ट बैंक और एचडीएफसी बैंक.

रिपोर्ट में इस मामले से परिचित लोगों का हवाला देते हुए कहा गया है कि भारतीय रिजर्व बैंक पायलट प्रोजेक्ट के लिए कुछ और बैंकों को जोड़ सकता है. यह प्रोजेक्ट जल्द ही शुरू होने की उम्मीद जताई गई है.

आरबीआई केंद्रीय बैंक डिजिटल मुद्रा (CBDC) का परीक्षण करने के लिए एक-साथ 2 मोर्चों पर काम कर रहा है: एक थोक बाजार (wholesale market) के लिए, जिसके लिए एक पायलट प्रोजेक्ट पहले से ही चल रहा है, और दूसरा खुदरा अथवा रिटेल (CBDC-R) के लिए है.

चांदी के रेट

मुंबई, दिल्ली, कोलकाता, पुणे, अहमदाबाद, जयपुर, लखनऊ और चंडीगढ़ में चांदी के भाव 62,000 रुपये प्रति किलो पर हैं. बेंगलुरु, हैदराबाद, केरल, चेन्नई, कोयंबटूर और मदुरै में चांदी के भाव 68,500 रुपये प्रति किलो पर है.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें व्यापार की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

रेटिंग: 4.16
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 423
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *